एडीबी की मदद से बिहार में 10 नए स्टेट हाईवे का होगा निर्माण। बेहतर होगी कई जिलों की कनेक्टिविटी।

किसी भी देश प्रदेश के विकास के लिए सड़कें काफी महत्वपूर्ण होती हैं। इसी कड़ी में बिहार सरकार प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में नई सड़क बना रही हैं। अब एशियन विकास बैंक एडीबी के सहयोग से बिहार में 10 नए स्टेट हाईवे और पुल बनाएं जाएंगे। विकास आयुक्त की अध्यक्षता में स्क्रीनिंग कमेटी ने सभी 10 एसएच के बनने पर मुहर लगा दी है। आज-कल में इसका प्रस्ताव केंद्र को भेजा जाएगा। इसके बाद एडीबी से कर्ज लेकर सड़कों का निर्माण शुरू होगा। इन सड़कों के बनने से 13 जिलों के लोगों को सीधा लाभ होगा।

इन सड़कों का होगा निर्माण।

पथ निर्माण विभाग ने मौजूदा वित्तीय वर्ष में 10 स्टेट हाईवे व एक पुल बनाने का निर्णय लिया है। इसके तहत सुपौल में गणपतगंज से परवा 53 किमी लंबे एसएच का निर्माण होगा। छपरा व सीवान से होकर गुजरने वाली मांझी-दरौली गुठनी सड़क का निर्माण होगा, जिसकी लंबाई 71.6 किमी है। इसी तरह बक्सर में ब्रह्मपुर-कुरानसराय-इटाढ़ी-सरंजा-जालीपुर सड़क बनेगी। इसकी लंबाई 81 किमी है। नवादा व गया से होकर गुजरने वाली वनगंगा-जेठियनगहलोर-भिंडस स्टेट हाईवे बनेगा। इसकी लंबाई 41.6 किमी होगी। भोजपुर में 32.3 किमी लंबी आरा-एकौना-खैरा सहार सड़क बनेगी।

इसके अलावा मधुबनी में मधुबनी-राजनगर-बाबूबरही-खुटौना एसएच बनेगा, जिसकी लंबाई 41.1 किमी होगी। सीतामढ़ी व मधुबनी से होकर गुजरने वाली सीतामढ़ी-पुपरी-बेनीपट्टी सड़क भी एसएच बनेगी। इसकी लंबाई 51.35 किमी होगी। बांका और भागलपुर से होकर गुजरने वाली 58 किमी धोरैया-इंग्लिश मोड़-असरगंज एसएच का निर्माण किया जाएगा। अतरवेल से जाले तक 45 किलोमीटर एसएच का निर्माण होगा। इन सड़कों के अलावा मुजफ्फरपुर में हथौड़ी-आथर-बभनगामा-औराई पथ में आथर-बभनगांवा के बीच बागमती नदी पर उच्चस्तरीय पुल व पहुंच पथ बनेगा।