करोड़ों की लागत से बिहार में बनेंगे तीन आरओबी। लोगों को जाम की समस्या से मिलेगी मुक्ति।

बिहार में अभी भी नेशनल हाईवे के किनारे ऐसे समपार फाटक है जहां पर ट्रेनों के गुजरने के वक्त भीषण जाम लग जाता है। इस समस्या को दूर करने के लिए वहां पर अब रेल ओवरब्रिज का निर्माण किया जाएगा। भागलपुर जिले से गुजरने वाले एनएच – 80 के घोरघट से मिर्जाचौकी के बीच शिवनारायणपुर, मिर्जाचौकी समेत एक अन्य जगह पर रेलवे ओवर ब्रिज(आरओबी) का निर्माण होगा। यहां पर समपार फाटक को तोड़ा जाएगा।

डीपीआर के लिए निकला टेंडर।

जानकारी के अनुसार रेलवे ओवर ब्रिज के निर्माण के लिए एनएच विभाग डीपीआर तैयार करायेगा। डीपीआर कंसल्टेंट एजेंसी बहाल करेगा, इसके लिए टेंडर निकाला है। विभाग द्वारा अपनायी जा रही टेंडर की प्रक्रिया के तहत बिड 15 नवंबर को खुलेगा. इच्छुक कंसल्टेंट एजेंसी के लिए टेंडर भरने की अंतिम तिथि 14 नवंबर निर्धारित की गयी है। विभागीय अधिकारी के अनुसार एक आरओबी के निर्माण पर 25 करोड़ तक खर्च आ सकता है। कंसल्टेंट एजेंसी जब डीपीआर बनाकर देगा, तो वास्तविक खर्च सामने आयेगा।

लोगों को जाम से मिलेगी राहत।

बता दें कि घोरघट से मिर्जाचौकी के बीच तीन जगहों पर आरओबी बनने से ट्रेन गुजरने का लोगों को इंतजार नहीं करना पड़ेगा। यातायात सुलभ होगा। एनएच 80 का निर्माण दो हिस्सों में होगा। कंक्रीट का रोड 70 किलोमीटर में जीरोमाइल से मिर्जाचौकी और 28 किलोमीटर घोरघट से दोगच्छी (नाथनगर) के बीच बनेगा।