Homeपटनापटना के छठ घाट पर कंट्रोल रूम और वॉच टावर से होगी...

पटना के छठ घाट पर कंट्रोल रूम और वॉच टावर से होगी निगरानी। पैदल घाट पर पहुंचने के लिए हटाए गए मरीन ड्राइव के क्रैश बैरियर।

आस्था के महापर्व छठ की शुरुआत हो चुकी है। शुक्रवार को नहाए खाए के साथ चार दिवसीय छठ पूजा की शुरूआत हुई जिसमें आज खरना का त्यौहार मनाया जाएगा। छठ घाट पर छठ व्रतियों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो चुका है। हालांकि अधिकांश लोग रविवार को संध्या अर्ग के लिए पहुचेंगे। छठ घाटों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं साथ ही छठ व्रतियों के ठहरने के लिए पंडाल की व्यवस्था की गई है। छठ घाट पर पैदल यात्रियों के पहुंचने के लिए गंगा पथ के क्रैश बैरियर कई जगह पर हटाए गए हैं।

पैदल यात्रियों के लिए हटाए गए गंगा पथ के क्रैश बैरियर।

बता दें कि मरीन ड्राइव पर सुरक्षा के दृष्टिकोण से लोहे से बनाये गये क्रैश बैरियर को 14 जगहों पर हटा दिया गया है। यह व्यवस्था इसलिए की गयी है, ताकि छठव्रतियों को घाट पर व उनके वाहनों को घाट के समीप बने पार्किंग स्थल तक पहुंचाया जा सके। गेट नंबर 93 व एलसीटी घाट के पास क्रैश बैरियर को इसलिए हटाया गया है, ताकि छठव्रती पैदल मेरीन ड्राइव को पार करते हुए नीचे उतर कर घाट की ओर जा सके।

जबकि उनके वाहनों को पार्किंग तक पहुंचाने के लिए भी गेट नंबर 93 के समीप बने पार्किंग तक पहुंचाने के लिए क्रैश बैरियर को हटाया गया है। इसके अलावा कुछ जगहों पर इसलिए क्रैश बैरियर हटाया गया है, ताकि वाहनों की पार्किंग मेरीन ड्राइव किनारे फुटपाथ पर भी लगाया जा सके। इसके अलावा जेपी सेतू के पूरब और एएन सिन्हा के सामने मेरीन ड्राइव पर क्रैश बैरियर को हटा दिया गया है, ताकि वैसे छठव्रती जिन्हें राजापुर घाट पर जाना है उनके वाहनों की पार्किंग करायी जा सके।

सभी घाटों पर बनाए गए कंट्रोल रूम।

सुरक्षा दृष्टिकोण से निगरानी रखने के लिए सभी घाटों पर छोटे-छोटे कंट्रोल रूम बनाया गया है। इसके अलावा दो बड़े कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। एक जेपी सेतू गोलंबर पर और दूसरा लॉ कॉलेज घाट पर बनाया गया है। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर छठव्रती उन कंट्रोल रूम में तैनात पदाधिकारियों को जानकारी दे सकते हैं। वहीं असामाजिक तत्वों की गतिविधियों पर नजर रखने तथा सुरक्षा दृष्टिकोण से थोड़ी-थोड़ी दूर पर वॉच टावर बनाया गया है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments