Homeपटनापटना से देवघर के लिए शुरू होने जा रही सीधी विमान सेवा।...

पटना से देवघर के लिए शुरू होने जा रही सीधी विमान सेवा। सिर्फ आधे घंटे में पहुंचेंगे बाबा के धाम।

बिहार के श्रद्धालुओं को बाबा बैजनाथ के दर्शन करना और और भी आसान होगा। हालांकि बिहार से देवघर जाने के लिए और भी दूसरे विकल्प उपलब्ध हैं। लेकिन नौकरीशुदा और दूसरे लोगों जिनके पास समय की कमी होती है उनके लिए यह बेहद सुविधाजनक होगा। जल्द ही इस सेवा को शुरू किया जाएगा। इंडिगो ने डीजीसीए से नई विमान सेवा के लिये विंटर सीजन में स्लॉट ले लिया है।

विंटर शेड्यूल में 52 जोड़ी विमानों की लिस्ट जारी।

बता दें कि पटना एयरपोर्ट की ओर से 52 जोड़ी विमानों की सूची जारी की गई है। 52 फ्लाइटों में सबसे अधिक इंडिगो की 26 जोड़ी इंडिगो की है जबकि स्पाइसजेट की 14 जोड़ी, गो एयर और एयर इंडिया की 4-4 जोड़ी, विस्तारा की दो जोड़ी, फ्लाइबिग और एलाइंस एयर की एक-एक जोड़ी विमान हैं। इस नए विंटर शिड्यूल में भी देवघर-पटना-देवघर इंडिगो की फ्लाइट 6ई 7944/ 7945 है।

रांची के लिए एक और फ्लाइट सूरत के लिए भी सेवा शुरू।

दीवान कंपनी इंडिगो के सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि देवघर से पटना एयरपोर्ट पर आने में आधे घंटे का समय लगेगा। पटना से देवघर के लिए 12.45 बजे टेकऑफ करेगी और आधे घंटे में पहुंचेगी। इस विमान को शिड्यूल में शामिल कर लिया गया है लेकिन इसके शुरू होने में अभी वक्त लगेगा। अभी इस विमान में बुकिंग भी शुरू नहीं हुई है। नए विमानों में पटना से स्पाइसजेट की सूरत के बीच भी सीधी उड़ान शुरू होने वाली है। पटना से रांची के लिए अब दो फ्लाइट हो गई है पहले इस रूट पर एक फ्लाइट थी। नया विंटर शिड्यूल 30 नवंबर से प्रभावी रहेगा।

दिल्ली के लिए सबसे अधिक फ्लाइट।

नए शिड्यूल में दिल्ली-पटना- दिल्ली सेक्टर के बीच 18 जोड़ी विमान हैं। पटना से पहली फ्लाइट सुबह 8.25 बजे है। पहले दिल्ली के लिए पहली फ्लाइट 8.15 बजे थी। 30 अक्टूबर से दिल्ली के लिए आखिरी फ्लाइट रात 9.40 बजे उपलब्ध होगी। पहले आखिरी फ्लाइट रात 10 बजे उपलब्ध थी। नये शिड्यूल में दिल्ली के बाद सबसे अधिक फ्लाइट मुंबई और कोलकाता के लिए 6-6 फ्लाइट है जबकि बेंगलुरु के लिए चार और अहमदाबाद के लिए तीन फ्लाइटें हैं। वहीं चेन्नई, हैदराबाद, गुवाहाटी, पुणे व रांची के लिए दो दो फ्लाइट हैं। लखनऊ, भुवनेश्वर, सूरत और अमृतसर के लिए एक-एक फ्लाइट है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments