Homeपटनापूरी तरह से डिजिटल हो रहा है इंडियन रेलवे। 596 ट्रेनों में...

पूरी तरह से डिजिटल हो रहा है इंडियन रेलवे। 596 ट्रेनों में उपलब्ध कराई 3081 पीओएस मशीनें।

डिजिटल इंडिया का प्रचार प्रसार आभार क्षेत्र में हो रहा है। हाल के वर्षों में डिजिटल पेमेंट और यूपीआई पेमेंट में जबरदस्त वृद्धि देखी गई। रेलवे भी अब खुद को डिजिटल करने का प्रयास कर रहा है। अब आप ट्रेनों में अपना खाना लेने के बाद पीओएस के माध्यम से डेबिट कार्ड पेमेंट या फिर क्यूआर कोड स्कैन कर यूपीआई से भी पेमेंट कर सकेंगे। भारतीय रेल बड़े पैमाने पर अपने रेलवे स्टेशनों और ट्रेनों में यात्रियों की सुविधा के लिए लेनदेन का डिजिटल तरीका अपना रही है।

रेलवे ने उपलब्ध कराई हजारों पीओएस मशीनें।

वर्तमान में भारतीय रेल में ई-कैटरिंग सर्विस 310 रेलवे स्टेशनों पर 1755 सर्विस प्रोवाइडर्स और 14 फूड एग्रीगेटर्स के माध्यम से उपलब्ध कराई जा रही है, जो रोजाना औसतन 41,844 मील्स की सप्लाई करते हैं। खाने और अन्य सामान और सेवाओं के भुगतान के लिए भारतीय रेल ने यात्रियों को बेहतर सुविधाएं देने के लिए 596 ट्रेनों में 3081 पीओएस मशीनें (Point of Sale Machine) उपलब्ध कराई हैं और 4316 स्टैटिक यूनिट्स पीओएस मशीनों के साथ उपलब्ध हैं।

एटीवीएम मशीन से आसानी से मिल रहा टिकट।

वहीं रेलवे स्टेशनों पर अब लोगों को सामान्य टिकट के लिए लंबे लाइन में लगना नहीं पड़ रहा। स्टेशनों पर लगे
ऑटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीन से यात्रियों को काफी सुविधा मिल रही है। इस एटीवीएम मशीन से टिकट खरीदने के लिए यात्रियों को 3 तरह का पेमेंट ऑप्शन मिलता है। यात्री चाहें तो वे इस मशीन से कैश, यूपीआई और स्मार्ट कार्ड से भुगतान करके टिकट खरीद सकते हैं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments