पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को बिहार से जोड़ने के लिए फोरलेन ग्रीनफील्ड बक्सर लिंक को मिली मंजूरी। 618 करोड़ की आएगी लागत।

अब बिहार के लोग भी उत्तर प्रदेश के दूसरे शहरों में जाने के लिए पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का आसानी से इस्तेमाल कर सकेंगे। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को बिहार से जोड़ने के लिए 17 किलोमीटर लंबे ग्रीन फील्ड बक्सर लिंक को मंजूरी दे दी गई है। इसकी लागत 618 करोड़ रुपए होगी। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने इसकी जानकारी दी।

दो साल में पूरा होगा काम।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि परियोजना को मंजूरी मिल गई है और आगामी परियोजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा निर्मित पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को लखनऊ से बिहार के बक्सर से जोड़ेगी। मंत्री ने कहा कि जल्द ही इस परियोजना का काम शुरू हो जाएगा, जिसकी समयावधि 2 साल रखी गई है। एनएच-31 के गाजीपुर-बलिया-मांझी घाट और बक्सर लिंक को चार पैकेज में ग्रीनफील्ड 4-लेन बनाया जा रहा है। इससे पूरे क्षेत्र का विकास होगा।

कम समय में पूरी होगी यात्रा।

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का उद्घाटन नवंबर 2021 में हुआ था और इसे उत्तर प्रदेश सरकार की सबसे बड़ी बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में से एक माना जाता है। 341 किलोमीटर लंबा एक्सप्रेसवे लखनऊ जिले के चंदसराय गांव से शुरू होकर लखनऊ-सुल्तानपुर रोड पर होते हुए गाजीपुर जिले के एनएच-31 पर हैदरिया गांव पर खत्म होता है। एक्सप्रेसवे ने लखनऊ से गाजीपुर के बीच यात्रा के समय को 6 घंटे से घटाकर 3.5 घंटे कर दिया। बिहार के लोग भी उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ सहित अन्य शहरों तक कम समय में पहुंच जाएंगे।