भारत सरकार ने लोगों को सूर्य ग्रहण से बचाने के लिए दूरदर्शन पर लगा दी थी अमिताभ धर्मेंद्र की ये फिल्म।

कल देश के कई हिस्सों में सूर्य ग्रहण दिखाई देगा। इस वजह से गोवर्धन पूजा का त्यौहार भी नहीं मनाया जाएगा। कई बार सूर्य ग्रहण नंगी आंखों से देखना हानिकारक होता है। ऐसा ही एक बार 1980 में हुआ था जब देश के कई हिस्सों में सूर्य ग्रहण लगना था। बड़ी संख्या में लोग इसे देख सकते थे। सरकार ने उन्हें रोकने के लिए एक अनोखा तरीका अपनाया था कि लोग घरों से बाहर ना निकले।

सरकार ने दूरदर्शन पर लगाई चुपके- चुपके।

यह घटना 16 फरवरी, 1980 की है। सूर्य ग्रहण का वक्त था। सरकार को डर था कि जनता बिना किसी सुरक्षा उपाय के घरों से बाहर निकल जाएगी और सूर्य की हानिकारक किरणों की वजह से उन्हें इसका दुष्प्रभाव झेलना पड़ेगा। इसलिए सरकार ने लोगों को घरों में कैद रखने के लिए फिल्म इंडस्ट्री का सहारा लिया। सरकार ने दूरदर्शन पर अमिताभ और धर्मेंद्र की फिल्म ‘चुपके चुपके’ दिखाने का फैसला किया।

उस दौर में टीवी पर फिल्में देखने का था क्रेज।

बता दें कि उस जमाने में टीवी पर केवल रविवार को ही फिल्म टेलीकास्ट की जाती थी। इसलिए लोगों में फिल्मों को लेकर अलग ही क्रेज होता था। ऐसे में जब सरकार ने सूर्य ग्रहण के कारण शनिवार को अमिताभ बच्चन और धर्मेंद्र की फिल्म का प्रसारण करने का फैसला किया था तो जनता खुश हो गई। चुपके – चुपके कॉमेडी और पैरलेल सिनेमा थी। इसके डायरेक्टर ऋषिकेश मुखर्जी थे। इसमें अमिताभ बच्चन, शर्मिला टैगोर, धर्मेंद्र, असरानी और ओमप्रकाश ने अभिनय किया था। धर्मेंद्र ने इसमें ड्राइवर प्यारे मोहन और प्रोफ़ेसर परिमल त्रिपाठी का किरदार निभाया था।