मार्च 2023 तक पटना से अलग-अलग शहरों के लिए चलेंगी 1000 नई बसें। यात्रियों को होगी सुविधा।

कुछ ही महीनों बाद राजधानी पटना से प्रदेश के अलग-अलग जिलों एवं पड़ोसी राज्य के भी कई शहरों के लिए बड़ी संख्या में बसें चलाई जाएंगी। यह सभी बसें पीपीपी मोड पर चलाई जानी है। इसके अलावा दूसरे जिलों में भी बसों की संख्या बढ़ाई जाएगी। परिवहन विभाग मार्च 2023 तक पीपीपी मोड पर करीब 1000 नई बसें चलाने जा रहा है।

नवंबर से मांगा गया जाएगा आवेदन।

जानकारी के अनुसार नवंबर से इच्छुक बस मालिकों से आवेदन मांगा जाएगा। इससे पहले भी बस मालिकों से आवेदन मांगा गया था। तब 100 से अधिक बस मालिकों का आवेदन आया था। उनमें से 50 का चयन किया गया। इनके द्वारा करीब 100 बसें चलाई जाएंगी। अक्टूबर में इनके साथ एग्रीमेंट होगा। अक्टूबर अंततक उन्हें परिचालन की अनुमति मिल जाएगी।

पटना से अलग-अलग शहरों के लिए दर्जनों बसें चलाई जाएंगी। इनमें समस्तीपुर- 04, पूर्णिया- 06, जमुई- 06, मुंगेर- 06, नवादा- 05, बांका- 04, डेहरी – 06, भभुआ -05, सासाराम- 05, गया -05, औरंगाबाद -05, मोतिहारी -10, डालटेनगंज -10, गुमला 10, टाटा 10, रांची 10, हजारीबाग 10, देवघर 06, वाराणसी 10, गोरखपुर 11 बसें शामिल हैं।