मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना के छठ घाटों का किया निरीक्षण। निरीक्षण के दौरान बाल- बाल बचे सीएम।

आस्था के महापर्व छठ के लिए अब 2 हफ्ते से भी कम समय बचा है। पटना के छठ घाट पर तैयारियों का जायजा लेने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहुंचे। अभी गंगा नदी में अधिक पानी होने के कारण छठ घाटों का निर्माण करना बड़ी चुनौती है। ऐसे में प्रशासन छठ पूजा के लिए विकल्प की तलाश कर रहा है। इसी के मद्देनजर सीएम नीतीश कुमार छठ घाटों का निरीक्षण करने के लिए निकले थे।

बाल- बाल बचे सीएम।

बताया जा रहा है कि निरीक्षण के दौरान जब मुख्यमंत्री स्टीमर से निरीक्षण कर रहे थे तभी गंगा नदी में तेज भंवर आया जिससे उनका स्ट्रीमर डगमगाते हुवे जेपी सेतु के पिलर से टकरा गया। हालांकि, इस हादसे में मुख्यमंत्री बाल-बाल बच गए। बताया जाता है कि नीतीश कुमार को हल्की चोट भी लगी है। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। न्यूज एजेंसी एएनआईए के हवाले से कई मीडिया संस्थानों ने इस खबर की पुष्टि की है।

सीएम ने अधिकारियों को दिए निर्देश।

मुख्यमंत्री ने निरीक्षण के दौरान दानापुर के नासरीगंज से पटना सिटी के गायघाट तक स्ट्रीमर पर सवार होकर छठ घाटों का मुआयना किया गया। इस दौरान सीएम ने सफाई, सुरक्षा एवं स्वच्छता के संबंध में पदाधिकारियों को कई निर्देश दिए और कहा कि हर हाल में छठ व्रतियों की सुरक्षा और सुविधा सुनिश्चित किया जाए। उन्हें किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए।
सुरक्षा व ट्रैफिक के लिए आवश्यक बैरिकेडिंग भी कराएं तथा घाटों तक के पहुंच पथ को दुरुस्त किया जाए। सीएम ने पदाधिकारियों को निर्देश दिया की गंगा नदी के जलस्तर और प्रवाह को देखते हुए छठ घाटों पर पुख्ता सुरक्षा के इंतजाम करें।