Homeपटनाराजधानी पटना में 100 एकड़ में बनेगा मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक पार्क। राज्य में...

राजधानी पटना में 100 एकड़ में बनेगा मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक पार्क। राज्य में ई-कॉमर्स क्षेत्र को मिलेगा बढ़ावा।

समान समय में ई-कॉमर्स का क्षेत्र काफी व्यापक हो चुका है। बड़ी संख्या में लोग ऑनलाइन खरीदारी कर रहे हैं। इसके अलावा अलग-अलग उत्पादों को एक राज्य से दूसरे राज्य भी भेजा जा रहा है। ऐसे में मल्टीमॉडल हब आपकी काफी आवश्यकता पड़ती है। जल्द ही राज्य का पहला मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक पार्क पटना में बनने जा रहा है। लगभग 100 एकड़ क्षेत्र में इसका निर्माण होगा जिसके लिए जमीन चिन्हित कर ली गई है। इसके बनने के बाद ई-कामर्स कंपनियों को अपने प्रोडक्ट्स को स्टोर करने में सुविधा हो जाएगी।

क्या होता है मल्टीमॉडल कार्गो हब?

बता दें कि मल्टी माडल लाजिस्टिक पार्क एक प्रकार से वृहत वेयरहाउस होता है। यह अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होता है। यहां कोल्ड स्टोरेज, मशीनीकृत हैंडलिंग, बड़े-बड़े वाहनों के लिए पार्किंग व कस्टम क्लियरेंस की व्यवस्था रहती है। उद्योग विभाग के प्रधान सचिव संदीप पौंड्रिक ने बताया कि पटना जिले के जैतिया गांव के समीप मल्टी माडल लाजिस्टिक पार्क के लिए जगह चिह्नित किया गया है।

रेल और सड़क मार्ग से होगी बेहतर कनेक्टिविटी।

मालूम हो कि जहां लॉजिस्टिक पार्क का निर्माण होना है वह जगह निर्माणाधीन आमस-दरभंगा फोरलेन के समीप है। इस हिसाब से इसे कई जिलों की सीधी कनेक्टविटी मिल रही। इसके अतिरिक्त नेऊरा-दनियावां रेल लाइन के भी यह करीब है। इस कारण रेल संपर्कता भी है। आमस-दरभंगा सड़क आगे जाकर कच्ची दरगाह -बिदुपुर पुल होते हुए उत्तर बिहार चली जाएगी। इस वजह से नेपाल भी इस सड़क से जाया जा सकता है। अडानी समूह, ओसवाल ग्रुप, टीवीएस समूह व कुछ अन्य समूह ने राज्य में लॉजिस्टिक पार्क विकसित करने को लेकर रुचि दिखाई है। जल्दी इसके लिए बिहार में नई ललाई जा रही

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments