रेलवे शुरू कर रहा विशेष सुविधा। बिहार के इन 28 स्टेशनों के बाहर खरीद सकेंगे आरक्षित और अनारक्षित टिकट।

जल्द ही आपको रेलवे स्टेशन पर आरक्षित और अनारक्षित टिकट के लिए लंबी कतार में खड़ा होने से छुटकारा मिलेगा। पूर्व मध्य रेल के समस्तीपुर मंडल में 28 स्टेशनों के बाहर भी आरक्षित और अनारक्षित टिकट बेचने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। निजी व्यक्तियों द्वारा यह टिकट बेचे जाएंगे। समस्तीपुर रेल मंडल के 28 स्टेशनों के कंप्यूटरीकृत यात्री आरक्षण प्रणाली (पीआरएस) सह अनारक्षित टिकट प्रणाली (यूटीएस) स्टेशन परिसर के बाहर संस्थापन और संचालन की प्रक्रिया शुरू की गई है। समस्तीपुर मंडल में यात्री टिकट सुविधा केंद्र खोलने के लिए आवेदन आमंत्रित किया गया है। 10 नवंबर तक आवेदन लिए जायेंगे।

3 साल के लिए मिलेगा लाइसेंस।

बता दें कि लाइसेंस की प्रारंभिक अवधि तीन वर्षों के लिए निर्धारित की गई है। अवधि समाप्ति के उपरांत सक्षम अधिकारी द्वारा संतोषजनक कार्य को देखते हुए आगे फिर वृद्धि की जायेगी। जिसमें जेटीबीएस, आरटीएसए, आरटीए या आईआरसीटीसी द्वारा प्रतिनियुक्त एजेंट सम्मिलित है। निर्धारित समय में ही मिलेगा टिकट रिजर्वेशन का समय सुबह 8.15 से रात दस बजे तक तथा रविवार को सुबह 8.15 से रात्रि आठ बजे तक होगा। इन केंद्रों से किसी भी तरह के रियायती टिकट का रिजर्वेशन नहीं होगा और न ही ग्रुप बुकिग होगी। अनारक्षित श्रेणी के टिकट रिफंड नहीं किए जाएंगे।

इन जगहों पर खोले जाएंगे टिकट काउंटर।

समस्तीपुर मंडल के स्टेशन परिसर से बाहर यात्री टिकट सुविधा केंद्र समस्तीपुर मंडल के 28 स्टेशन के बाहर संचालन के लिए निर्धारित की गई है। इसमें समस्तीपुर, रुसेरा घाट, दरभंगा, सहरसा, रक्सौल, मोतिहारी, जयनगर, सीतामढ़ी, बेतिया, झंझारपुर, सिमरी बख्तियारपुर, चकिया, सुगौली, बगहा, बैरगनिया, लहरिया सराय, हरी नगर, बनमनखी, सकरी, पूर्णिया कोर्ट, मुरलीगंज, हसनपुर रोड, मोतीपुर, मधुबनी, नरकटियागंज, जनकपुर रोड, दौराम मधेपुरा और सुपौल शामिल हैं।