सूरत की तर्ज पर बिहार का टैक्सटाइल हब बनेगा मुजफ्फरपुर। 20000 युवाओं को रोजगार देने की योजना।

बिहार सरकार के उद्योग विभाग द्वारा राज्य में औद्योगिक इकाइयों की स्थापना के लिए लगातार प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए बीयाडा की जमीन पर इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित की जा रही है। इसी कड़ी में मुजफ्फरपुर में प्लग एंड प्ले सेंटर बन रहा है। मुजफ्फरपुर में टेक्सटाइल कलस्टर विकसित करने के लिए 120 करोड़ का प्रोजेक्ट वाला है। 20000 युवाओं को प्रशिक्षित कर इसमें रोजगार देने की योजना है।

जीविका दीदी यहां पर आकर प्रशिक्षण ले रही है. यहां पर काम करने वाली दीदीयां महीने में नौ से दस हजार तक आमदनी करेंगी। उद्योग विभाग के प्रधान सचिव संदीप पौंड्रिक ने बुधवार को बियाडा परिसर में निरीक्षण के दौरान यह बातें कही। उन्होंने लेदर क्लस्टर में काम करने वाली जीविका दीदियों से संवाद किया।

उद्योग विभाग के सचिव ने किया निरीक्षण।

उद्योग विभाग के प्रधान सचिव ने आइडीपीएल परिसर में बन रहे प्लग एंड प्ले सेंटर का निरीक्षण कर काम के प्रगति का जायजा लिया। आरएस कंट्रक्शन कंपनी के संचालक पंकज कुमार व प प्रोजेक्ट डायरेक्टर ई.एके रस्तोगी ने काम के प्रगति के बारे में जानकारी ली। प्रोजेक्टर डायरेक्टर ने कहा कि छह माह के अंदर यहां पर तीन शेड बनकर तैयार हो जाएगा। उन्होंने निर्माण काम की गुणवता की सराहना करते हुए तय लक्ष्य तक पूरा करने का टास्क दिया।

इस तरह के सामान का होगा निर्माण।

बता दें कि यहां पर बैग, बेल्ट, झोला, रेडिमेट गारर्मेंट बनाने वाली कंपनियां आ रही है। प्रधान सचिव ने कहा कि यहां पर कुछ ने अपना काम शुरू कर दिया है। अभी 225 जीविका दीदी प्रशिक्षण ले रही है। जिला परियोजना प्रबंधक अनीषा ने बताया कि यह संख्या एक हजार तक पहले चरण में पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है।