हाजीपुर- मुजफ्फरपुर रेल खंड पर बनेगी एक और रेल लाइन। ट्रेनों के लोड की वजह से बनाई जाएगी तीसरी लाइन।

बिहार में कई ऐसे प्रमुख रेल रूट है जहां से बड़ी संख्या में प्रतिदिन ट्रेनों की आवाजाही होती है। ट्रेनों की बढ़ती संख्या के वजह से रेल खंडों पर काफी लोड बढ़ गया है। इसके लिए नई रेल लाइन बनाने की बात चल रही है। इसी कड़ी में मुजफ्फरपुर-हाजीपुर रेलखंड पर  तीसरी लाइन का निर्माण होगा। 52 किलोमीटर लंबे इस रेलखंड पर तीसरी लाइन बनने से ट्रैक पर लोड कम होगा, ट्रेनों की टाइमिंग बेहतर होगी।

प्रस्ताव पर लग गई मुहर।

पूर्व मध्य रेलवे हाजीपुर के एक वरीय अधिकारी ने बताया कि मुजफ्फरपुर-हाजीपुर रेलखंड पर तीसरी लाइन के निर्माण के लिए सोनपुर मंडल के प्रस्ताव पर मुहर लग गई है। इस पर काम तेजी से चल रहा है। प्रस्ताव को स्वीकृति के लिए शीघ्र ही रेलवे बोर्ड को भेजा जाएगा।

रोज गुजरती है 120 ट्रेनें।

बता दें कि मुजफ्फरपुर-हाजीपुर रेलखंड पर जोन के सभी रेलखंड से अधिक लोड है। इस कारण तीसरी नई रेललाइन बनाने का प्रस्ताव बना है। इससे होकर मुजफ्फरपुर समेत मोतिहारी, सीतामढ़ी, समस्तीपुर रूट की ट्रेनें दिल्ली जाती-आती हैं। बड़ी संख्या में मालगाड़ियां भी चलती हैं। करीब 52 किलोमीटर के इस रेलखंड से होकर हर दिन 120 ट्रेनें और मालगाड़ियां गुजरती हैं। सर्वे में पता चला कि इस पर दोगुना यानी करीब 200 प्रतिशत लोड है। इसी कारण ट्रैक टूटने की घटना बढ़ी है।