Homeपटना100 बार रिजेक्ट होने के बाद भी इस महिला ने नहीं मानी...

100 बार रिजेक्ट होने के बाद भी इस महिला ने नहीं मानी हार। खड़ी कर दी 2 लाख करोड़ रुपए की कंपनी।

अक्सर ऐसा होता है कि हम रिजेक्शन की वजह से प्रयास करना छोड़ देते हैं। कई असफलताओं के बाद लोगों की हिम्मत हार जाती है। लेकिन एक महिला ने 100 बार रिजेक्ट होने के बाद भी हिम्मत नहीं हारी और ऐसी कंपनी खड़ी कर दी जिसकी वैल्यू आज दो लाख करोड़ रुपए की हो गई है। ये कहानी है Canva की फाउंडर मेलानी पर्किन्स की जिन्होंने रिजेक्शन के बावजूद हिम्मत न हारते हुए आज जीवन में बड़ा मुकाम हासिल कर लिया।

2013 में शुरू किया था canva

उन्होंने अपना पहला बिजनेस तब शुरू किया था जब वह सिर्फ 14 साल की थीं। 22 साल की उम्र में, मेलानी ने अपनी अगली कंपनी (Fusion Books) की स्थापना की। आज, फ़्यूज़न बुक्स ऑस्ट्रेलिया में सबसे बड़ा वार्षिक पुस्तक प्रकाशक है और इसकी मौजूदगी फ़्रांस और न्यूज़ीलैंड में भी है। 2013 में, पर्किन्स ने अपना बिजनेस, Canva लॉन्च किया था। यह एक ऐसा मंच है जो किसी को भी पेशेवर-गुणवत्ता वाले डिज़ाइन बनाने की अनुमति देता है, चाहे उनकी विशेषज्ञता का स्तर कोई भी हो। आज उनके मोबाइल ऐप के 100 मिलियन से अधिक यूज़र है। उनके बिजनेस की वैल्यू 26 अरब डॉलर (2.08 लाख करोड़ रुपए) हो गई है।

100 बार निवेशकों ने किया था रिजेक्ट।

पर्किन्स कहती हैं कि हर बार जब हमें किसी निवेशक से कोई कारण मिलता कि वे निवेश क्यों नहीं करेंगे, तो हम इस बात पर ध्यान केंद्रित करते कि हम क्या कुछ बदलाव कर सकते हैं। एक वर्ष में 100 से अधिक बार रिजेक्ट किया गया। लोगों के लिए 100वें ‘नहीं’ के बाद सामान्य बात यह होगी कि आप रुक जाएं, लेकिन आपको दृढ़ रहना होगा। मैं अपनी ऊर्जा को लगातार उन चीजों में डालती, जिनसे निवेशक आते, उनके सवालों का जवाब मिलता, उनकी समस्या दूर होती।

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments