ZEE और SONY ग्रुप का होगा मर्जर। बनेगी देश की सबसे बड़ी मीडिया एंटरटेनमेंट कंपनी।

इंटरटेनमेंट क्षेत्र की बड़ी कंपनी ज़ी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड (ZEEL) का सोनी इंटरटेनमेंट के साथ मर्जर होने जा रहा है। इंडिया के इंटरटेनमेंट वर्ल्ड की यह दोनों दिग्गज कंपनियां है जिनके चैनल्स भारत के घर-घर में देखे जाते हैं। भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) ने मंगलवार को दोनों ग्रुप की कुछ शर्तों के साथ मर्जर को मंजूरी दे दी। प्रस्तावित विलय की घोषणा पिछले साल सितंबर में की गई थी।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, ZEE के साथ बांग्ला एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड (BEPL) का भी सोनी ग्रुप में विलय होगा। बांग्ला एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड, अप्रत्यक्ष तरीके से सोनी ग्रुप कॉर्पोरेशन के पूर्ण स्वामित्व वाली सहयोगी कंपनी है। मामले की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने बताया कि सीसीआई ने ज़ी और सोनी से ऐसे प्रबंध करने के लिए कहा है, जिससे कि विलय के बाद बनने वाली नई कंपनी बाजार में अपने दबदबे का दुरुपयोग न कर पाए।

मर्जर का क्या होगा असर?

– विज्ञापन की दुनिया में डिजनी प्लस हॉटस्टार से  निकलेगा आगे

– ZEELको मिलेगा ग्रोथ कैपिटल।

– एक दूसरे के कंटेंट, डिजिटल प्लेटफॉर्म का एक्सेस।

– सोनी को भारत में उपस्थिति बढ़ाने का मौका मिलेगा।

– सोनी को 130 करोड़ लोगों की व्यूअरशिप मिलेगी।

ZEEL का कारोबार

-190 देशों में पहुंच, 10 भाषा, 100 से ज्यादा चैनल।

– दर्शकों में 19% का मार्केट शेयर।

– 2.6 लाख घंटों से ज्यादा का TV कंटेंट।

– 4800 से ज्यादा फिल्मों के टाइटल।

– डिजिटल स्पेस में ZEE5 के जरिये बड़ी पकड़।

– देश में 25% फिल्में ZEE नेटवर्क पर देखी जाती हैं।

सोनी का कारोबार

– भारत में 31 चैनल, 167 देशों में पहुंच।

– सोनी के पास देश में 70 करोड़ दर्शक।

– दर्शकों में 9% का मार्केट शेयर